प्रवासी अप्रवासी में अंतर क्या है? जानिए आसान शब्दों में ?

हममें से अधिकांश लोगों ने प्रवासी, अप्रवासी और आप्रवासी शब्द कई बार सुना है, लेकिन यह निश्चित नहीं है उन सभी को “प्रवासी  अप्रवासी अंतर” पता है। कई लोग इन शब्दों के बीच भ्रमित हो जाते हैं। तो ये शब्द एक दूसरे से कैसे भिन्न हैं? आप किसी को कब ‘प्रवासी’ कह सकते हैं और कब ‘अप्रवासी या आप्रवासी’ कह सकते हैं। इनका जवाब इस Pravasi Apravasi Difference in Hindi लेख में स्पष्ट करने का प्रयास किया है।

ताकि अगली बार जब आप अपने दोस्तों से इस बारें में बात करें तो आप कुछ जानकार लगें और प्रवासी और आप्रवासी के बीच अंतर अच्छे से स्पष्ट कर सके। तो आइए जानते हैं प्रवासी और आप्रवासी के बीच अंतर क्या है ?

प्रवासी अप्रवासी अंतर (pravasi apravasi Diffrence)

प्रवासी किसे कहा जाता है ?

प्रवासी वह है जो प्रवास करता है वह एक रात्रि के लिए भी प्रवास कर सकते हैं और इससे एक लंबे समय के लिए अर्थात अपने मूल स्थान से दूसरे स्थान पर निवास करता है। अगर आसान शब्दों में कहें तो एक प्रवासी वह होता है, जो अस्थाई यानी थोड़े समय के लिए सामाजिक, आर्थिक, या अन्य कारणों से अपने देश को छोड़ने का विकल्प चुनता है। आमतौर पर अपने बेहतर जीवन की तलाश में रहते हैं।

प्रवासी अपने मूल स्थान से दूसरे स्थान पर जाकर वहां अस्तित्व का अनुभव करता है और वहां के सांस्कृतिक, भाषा, और जीवनशैली का हिस्सा बनते है। लेकिन प्रवासी अपने मूल स्थान पर लौटने के इच्छुक रहते हैं। प्रवासी को अंग्रेजी में Migrant कहा जाता है। (विदेश में निवास करने वाला | परदेस में रहनेवाला | स्थान बदल कर रहने वाला) 

आप्रवासी किसे कहा जाता है ?

आप्रवासी एक विशेष प्रकार का प्रवासी है जो अपने जन्म स्थान के अलावा अन्य देश को अपना मुख्य स्थाई निवास बनाता है, यानी वे कानूनी रूप से वहां बस गए हैं या अवैध रूप से स्थाई रहते है। इससे कोई फर्क नहीं पड़ता कि उस व्यक्ति ने उस देश की नागरिकता ली हो या किसी मूल निवासी से शादी की हो या देश को कोई अन्य सेवा दी है – वह हमेशा एक अंतरराष्ट्रीय प्रवासी ही कहलाएगा।

जैसे कि यदि कोई मूलतः भारत का रहने वाला है, अब अमेरिका में रहता है; अतः अमेरिका के लिए वह आप्रवासी है। आप्रवासी को अंग्रेजी में Immigrant (इमिग्रेंट) कहते है। (आकर रहने वाला, प्रवास करने वाला)

क्या आप जान गए : प्रवासी अप्रवासी अंतर क्या है?

प्रवासी आप्रवासी 
प्रवासी वह व्यक्ति होता है जो काम या बेहतर रहने की स्थिति की तलाश में एक अलग क्षेत्र या  किसी देश में अस्थाई रूप से रहता है।आप्रवासी वह व्यक्ति होता है जो स्थायी रूप से रहने के इरादे से किसी विदेशी देश में जाता है।

सीधे शब्दों में कहें तो, एक प्रवासी (Pravasi) वह होता है जो अस्थायी रूप से एक नए देश में चला जाता है। प्रवासी’ आम तौर पर जब भी अपने देश वापस लौटने का मन करते हैं तो अपने देश लौट जाते हैं। जबकि एक आप्रवासी (Apravasi) वह होता है जो वहा बस जाता है। स्थायी रूप से रहता है यानी उस देश को या  उस गंतव्य स्थान को अपना निवास स्थान बना लेता है। (अप्रवासी का कोई विशेष मतलब नही बताया जाता है, इसका अर्थ है: जो प्रवास न करता हो अर्थात जो अपने मूल स्थान के आस-पास ही रहे; अधिक दूरी पर न जाये)

यह भी पढ़ें:- literacy Meaning In Hindi : साक्षरता का अर्थ हिंदी में

प्रवासी दिवस कब मनाया जाता है?

हर वर्ष 18 दिसंबर को दुनिया भर में अंतरराष्ट्रीय प्रवासी दिवस मनाया जाता है। यह दिवस प्रवासियों के महत्त्वपूर्ण योगदान को पहचानने और उनके सामने आने वाली चुनौतियों को उजागर करने के लिए निर्धारित किया गया है। 4 दिसंबर, 2000 को संयुक्त राष्ट्र महासभा ने दुनिया में प्रवासियों की बढ़ती संख्या को ध्यान में रखते हुए 18 दिसंबर को ‘अंतर्राष्ट्रीय प्रवासी दिवस’ की घोषित की थी।

वहीं “Bhartiya Pravasi Diwas” भारत सरकार द्वारा हर साल 9 जनवरी को मनाया जाता है। इस दिन महात्मा गांधी दक्षिण अफ्रीका से अपने देश लोटे थे। साल 2003 से ये दिवस हर साल भारत में मनाया जाता है।

उम्मीद है दोस्तों आपने प्रवासी, अप्रवासी, आप्रवासी (Pravasi or Apravasi Diffrence) के बीच अंतर समझ लिया है। आपने जान लिया होगा की ‘प्रवासी’ और ‘आप्रवासी’ शब्द अलग अलग है। अगर आपको आज का आर्टिकल मददगार लगा ? नीचे कमेंट कर जरूर बताएं।

स्रोत: विकिपीडिया 

WhatsApp Channel Join Now
Telegram Group Join Now

Leave a Comment