Achinta Sheuli Biography : जानिए 20 साल के स्वर्ण पदक विजेता अचिंता शेउली के बारे में

नमस्कार दोस्तों आज के लेख में हम जानने वाले है भारतीय वेटलिफ्टर Achinta Sheuli Biography के बारे में क्योंकि वह अभी चर्चा में बने हुए है। क्योंकि उन्होंने इंग्लैड के बर्मिघम में आयोजित Commonwealth Games 2022 में भारत के लिए तीसरा गोल्ड मेडल जीत लिया है।

रविवार को Cwg 2022 में भारतीय वेटलिफ्टरो का जलवा कायम रहा क्योंकि इस दिन वेटलिफ्टिंग के तीन इवेंट हुए थे जिनमें से भारत ने दो में गोल्ड मेडल जीते !

पहले 67 Kg पुरषों वाली श्रेणी में जेरेमी लालरिनुंगा ने गोल्ड जीता। इसके बाद देर रात Achinta Sheuli ने 73 Kg कैटेगरी में देश के नाम एक और गोल्ड मेडल नाम कर दिया।

Achinta Sheuli gold bio

अचिंता शेउली ने अपने पहले प्रयास में 137 किलो व दूसरे प्रयास में 140 किलो और तीसरे प्रयास में 143 किलो का वजन उठाया। इसके Clean And Jerk Round में अचिंता शेउली ने पहले प्रयास में 166 Kg का वजन उठाया। व इसके बाद दूसरे प्रयास में इन्होंने 170 Kg उठाने का प्रयास किया, लेकिन वह उठा नहीं पायें। तीसरे प्रयास में फिर उन्होंने 170 Kg का वजन उठाया। ओर इस बार वह सफल रहें।

इस प्रकार अचिंता ने Snatch Round 143 Kg और Clean And Jerk Round में 170 Kg वजन समेत कुल 313 Kg वजन उठाया। ओर पहले स्थान पर रहकर स्वर्ण पदक अपने नाम किया।

यह भी पढ़ें : Jeremy Lalrinnunga Biography – जानिए कौन है वेटलिफ्टिंग में 19 वर्षीय गोल्ड मेडल विजेता ?

तो आइए दोस्तों जानते है Indian Weightlifter Achinta Sheuli Biography in Hindi, अचिंता शेउली बायोग्राफी, परिवार, रिकॉर्ड व उपलब्धियां के बारें में।

Achinta Sheuli Biography
Achinta Sheuli Biography

Achinta Sheuli Biography in Hindi | अचिंता शेउली जीवनी

Achinta Sheuli Biography : अचिंता शेउली का जन्म 24 नवंबर 2001 को पश्चिम बंगाल के देउलपुर में हुआ था। वह एक 20 वर्षीय भारतीय वेटलिफ्टर है, जो की 73 Kg भार वर्ग में प्रतिस्पर्धा करते है।

अचिंता के पिता अपने परिवार के पालन पोषण लिए रिक्शा चलाते थे। रिक्शा चलाने के अलावा वह मजदूरी भी करते करते थे। लेकिन साल 2013 में उनकी स्थिति ओर ज्यादा खराब हो गई जब उनके पिता का निधन हो गया।

अचिंता का एक बड़ा भाई है वह स्थानीय जिम में ट्रेनिंग किया करते है उन्हे वह अपना आइडल मानते है उनका नाम आलोक है। उनके पिता की निधन के बाद परिवार की सारी जिम्मेदारियां आलोक पर ही थी।

अचिंता की मां Poornima Sheuli भी अपने परिवार के पालन पोषण के लिए छोटे- मोटे काम किया करती थी। लेकिन गरीबी के बावजूद उन्होंने अपने बेटे का भारोत्तोलन के प्रति जुनून को कम नहीं होने दिया व अंतर्राष्ट्रीय मंच पर देश का प्रतिनिधित्व करने के लिए उसका समर्थन करती रही।

Achinta Sheuli mother
Achinta Sheuli अपनी मां के साथ

भारतीय वेटलिफ्टर अचिंता शेउली ने 2021 में Junior World Weightlifting Championships में Silver पदक जीता था और वह 2 बार Commonwealth Championships के स्वर्ण पदक विजेता रहें है। वहीं इंग्लैंड बर्मिंघम 2022 राष्ट्रमंडल खेलों में, उन्होंने 313 kg का भार उठाकर रिकॉर्ड बनाया और स्वर्ण पदक अपने नाम किया।

Achinta Sheuli Weightlifting Career

अचिंता शेउली ने साल 2011 में भारोत्तोलन में अपने करियर बनाने की शुरुआत की थी। उनके भाई आलोक ने ही उन्हें पहले Training दी, जो की एक Weightlifter भी रहे हैं। Achinta Sheuli का करियर आगे बढ़ता रहा ओर साल 2015 में उन्होंने पहली बार एक बड़े मंच पर पदक जीता। उन्होंने उस साल कॉमनवेल्थ यूथ चैंपियनशिप में भारत के लिए सिल्वर पदक जीता था।

बाद में वह साल 2015 में Army Sports Institute में शामिल हो गये और अपने खेल में शानदार प्रदर्शन करते रहे। फिर उसी साल वह Indian National Camp में शामिल हुए ओर 2016 और 2017 में उन्होंने फिर से Army Sports Institute में ट्रेनिंग की थी , इसके बाद वह अब 2018 से Indian National Camp में शामिल हैं।

अचिंता शेउली की उपलब्धियां | Achievements of Achinta Sheuly

1. साल 2022 कॉमनवेल्थ गेम्स Gold मेडलिस्ट

2. साल 2021 कॉमनवेल्थ सीनियर चैंपियनशिप Gold मेडलिस्ट

3. साल 2021 जूनियर वर्ल्ड चैंपियनशिप Silver मेडलिस्ट

4. साल 2019 कॉमनवेल्थ सीनियर और जूनियर चैंपियनशिप Gold मेडलिस्ट

5. साल 2018 एशियाई यूथ चैंपियनशिप Silver मेडलिस्ट

6. साल 2015 कॉमनवेल्थ यूथ चैंपियनशिप Silver मेडलिस्ट

WhatsApp Channel Join Now
Telegram Group Join Now

Leave a Comment

You cannot copy content of this page