Martyrs Day 30 January | शहीद दिवस 30 जनवरी

Martyrs Day 30 January •> Martyrs Day यानी की शहीद दिवस भारत हर साल 30 जनवरी को शहीद दिवस मनाता है देश के लिए अपने प्राणों की आहुति देने वाले हमारे वीर शहीदों को सम्मानित करने के लिए यह दिन चुना गया है.

30 January 1948 को बिड़ला हाउस में शाम की प्रार्थना के दौरान राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की नाथूराम गोडसे की हत्या कर दी गई थी।  इसलिए हर साल जिस दिन बापू ने अंतिम सांस ली उस दिन देश शहीद दिवस के रूप में मनाया जाता है.

Martyrs Day 30 January | शहीद दिवस 30 जनवरी
Martyrs Day 30 January | शहीद दिवस 30 जनवरी

इस दिन राष्ट्रपति, उपराष्ट्रपति, प्रधानमंत्री और रक्षा मंत्री महात्मा गांधी को श्रद्धांजलि देने के लिए राजघाट पर एकत्रित होते हैं वह पूरे देश में सुबह 11 बजे भारतीय शहीदों की याद में 2 मिनट का मौन रखा जाता है.

गांधी जी के आखिरी शब्द

गोडसे ने गांधी के सीने और पेट में तीन गोलियां मारी। ऐसा कहा जाता है कि गांधी जी के आखिरी शब्द “हे राम” कहे थे।

जब नाथूराम गोडसे को पकड़कर लाया गया था तब वह अपने अपराध को सही ठहराने की कोशिश कर रहा था और कह रहा था कि गांधी जी देश के विभाजन के लिए जिम्मेदार हैं वह गोडसे ने गांधीजी को एक ढोंग कहा और अपने आप को अपने अपराध के लिए किसी भी तरह से दोषी महसूस नहीं किया।

एक साल तक चले मुकदमे के बाद 8 नवंबर 1949 को गोडसे को मौत की सजा सुनाई गई थी। वहीं 15 नवंबर को फांसी दी गई थी.

2022 Martyrs Day 30 January

Martyrs Day 2022 : इस वर्ष यानी की साल 2022 में भारत 74 वां शहीद दिवस मना रहा हैं.

भारत में शहीद दिवस 23 मार्च को भगत सिंह • राजगुरु और सुखदेव थापर को सम्मान देने के लिए भी मनाया जाता है, जिन्हें 1931 में इसी दिन यानी वि 23 मार्च को फाँसी पर लटका दिया गया था।

यह भी जानें •>  भारत में शहीद दिवस कब-कब और क्यों मनाया जाता हैं ?

WhatsApp Channel Join Now
Telegram Group Join Now

Leave a Comment

You cannot copy content of this page