Shushila Devi Likmabam Biography : जानिए कौन हैं सुशीला देवी, जिन्होंने जूडो में भारत के लिए रजत पदक जीता

Shushila Devi Likmabam जानिए कौन हैं सुशीला देवी जिन्होंने जूडो में भारत के लिए रजत पदक जीता : 2022 कॉमनवेल्थ गेम्स में चौथे दिन भारत की जूडो प्लेयर सुशीला देवी लिकमाबम ने महिलाओं के 48 Kg भार वर्ग में रजत पदक जीत कर चर्चा में बनी हुई है वह फाइनल मुकाबले में साउथ अफ्रीका की मिकेला व्हाइटबोडी से हार गई जिससे उन्हे सिल्वर मेडल प्राप्त हुआ।

Shushila Devi Likmabam Commonwealth Games 2022 – शुशीला देवी लिकमाबम ने अपने पहले दिन में क्वार्टर फाइनल में Harriet Bonface को हराया था, फिर मॉरीशस की Priscilla Morand को हराकर दूसरी जीत प्राप्त की। फाइनल मुकाबले में सुशीला एक स्वर्ण पदक के लिए तैयार थी, लेकिन फाइनल में दक्षिण अफ्रीका की माइकेला व्हाइटबोई के खिलाफ हार गई, फिर भी शुशीला देवी ने अपने लिए Silver पदक सुनिश्चित किया।

Shushila Devi Likmabam Biography

आइए दोस्तों जानते हैं सुशीला देवी लिकमाबम की जीवनी के बारें में | Shushila Devi Likmabam Biography in Hindi

Shushila Devi Likmabam Biography in Hindi |

Shushila Likmabam का जन्म 1 फरवरी 1995 को भारत के पूर्वी राज्य मणिपुर की राजधानी इंफाल के पूर्वी जिले में स्थित हिंगांग मयाई लीकाई में हुआ था। सुशीला बचपन से ही जूडो का शौकीन रही थी शुरू से ही उसमें जूडो में एक चैंपियन बनने के संकेत दिखाई देने लगे थे क्योंकि उनका परिवार इस खेल से जुड़ा रहा है।

उनके चाचा लिकमबम दीनित जो खुद एक अंतरराष्ट्रीय जूडो खिलाड़ी रहे हैं, वह सुशीला लिकमाबाम को अपने साथ ले गए और Sports Authority of India और Special Area Games के तहत ट्रेनिंग कराई थी।

साल 2020 के टोक्यो ओलंपिक में सुशीला देवी लिकमाबम भारत का प्रतिनिधित्व करने वाली एकमात्र खिलाड़ी थी। सुशीला देवी ने साल 2014 में आयोजित राष्ट्रमंडल खेलों में भी रजत पदक जीता था। वह दिग्गज बॉक्सर MC Mary Kom को अपना Role Model मानती हैं।

Leave a Reply