Operation Kaveri: सूडान के गृहयुद्ध में फंसे भारतीयों को ‘ऑपरेशन कावेरी’ के माध्यम से निकाला जा रहा है?

Operation Kaveri: अफ्रीकी देश सूडान में मौजूदा गृह संकट के कारण भारत ने अपने नागरिकों को सूडान से निकालने के लिये ‘ऑपरेशन कावेरी’ आभियान शुरू किया है। सूडानी आर्म्ड फोर्सेज व अर्द्धसैनिक रैपिड सपोर्ट फोर्सेस के बीच लड़ाई में कई लोगों की जान जा चुकी है। करीब 10 दिनों से चल रहे इस गृहयुद्ध के बीच अब तक दोनों पक्षों के बीच विराम पर सहमति बनने की खबर नहीं आ रही है। वहीं सूडान में इस गृह युद्ध के बीच वर्तमान में करीब 3 हजार भारतीय नागरिक भी सूडान के विभिन्न हिस्सों में फंसे हैं।

अब तक सूडान गृह युद्ध के बीच में फंसे कई भारतीयों को नौसेना ‘Operation Kaveri’ के तहत भारत वापसी कराई जा चुकी है। इन्हें सूडान से जेद्दा एयरपोर्ट सऊदी अरब लाया जा रहा है। वहीं जेद्दा एयरपोर्ट से विभिन्न एयरलाइंस के माध्यम से इन्हें भारत लाया जा रहा है।

ऑपरेशन कावेरी क्या है?

‘ऑपरेशन कावेरी’ अफ्रीकी देश सूडान में सेना व एक प्रतिद्वंद्वी अर्द्धसैनिक बल के बीच तीव्र लड़ाई के चलते वहाँ फंसे भारतीय नागरिकों को भारत वापस लाने के लिए एक आभियान चलाया गया है, जिसे ऑपरेशन कावेरी नाम दिया गया है।

ऑपरेशन कावेरी में भारतीय नौसेना के INS सुमेधा, एक गुप्त अपतटीय गश्ती पोत व जेद्दा में स्टैंडबाय पर 2 भारतीय वायु सेना C-130J के विशेष संचालन विमानों की तैनाती शामिल है।

सूडान में करीब 2,800 भारतीय नागरिक हैं जिनमें से क़रीब 1,200 भारतीयों का समुदाय वहाँ पर बसा हुआ है।

ऑपरेशन कावेरी अपडेट्स…

ऑपरेशन कावेरी के तहत अब तक सूडान से क़रीब 1,100 भारतीय नागरिकों को सुरक्षित निकाला जा चुका है। वहीं विदेश मंत्रालय ने बताया कि कल 128 भारतीय नागरिकों के छठे जत्थे ने सूडान छोड है़ा। इसके साथ सूडान छोडने वाले भारतीय नागरिकों की कुल संख्या अब क़रीब 1,100 हो गई है।

यह भी पढ़ें:- Whatsapp Multi Device login Feature: व्हाट्सएप अब एक साथ 4 फोन में चला सकेंगे, जानें इस्तेमाल का तरीका?

सूडान में फँसे राजस्थानी लोग सुरक्षित वापस लाए जाएँगे?

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के निर्देश अनुसार सूडान में चल रहे गृह संकट को देखते हुए सरकार ने वहां फँसे राजस्थान के लोगों को सुरक्षित भारत पहुँचने पर राजस्थान में अपने गंतव्य स्थानों तक तुरंत पहुंचाने की पूरी तैयारी कर ली है।

राज्य की एडिशनल चीफ़ सेक्रेटरी व चीफ़ रेज़िडेंट कमिश्नर शुभ्रा सिंह द्वारा बताए गए निर्देशानुसार सूडान से घर वापसी कार्य को सुनियोजित ढंग से किया जा रहा है। अभी तक सूडान में 60 राजस्थानी लोगों के फंसे होने की सूचना है जिन्हें चरणबद्ध तरीक़े से वापस लाया जायेगा ।

बुधवार को 10 राजस्थानी लोगों के 2 विमानों से भारत लौटने की सूचना मिली है। राजस्थान फ़ाउंडेशन के आवासीय आयुक्त धीरज श्रीवास्तव ने कहा कि गुरुवार 27 अप्रैल को विमान मुंबई पहुंचेगा। ये सी17 विमान मुंबई अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे पर लैंड होगा जिसमें राजस्थान के लोगों के पहुँचने पर उन्हें सुरक्षित राजस्थान लाया जायेगा।

WhatsApp Channel Join Now
Telegram Group Join Now

Leave a Comment