Gujarat Cable Bridge Collapsed: गुजरात के मोरबी में बड़ा हादसा, केबल पुल टूटने से कई लोग नदी में गिरे

Gujarat Cable Bridge Collapsed : भारत के गुजरात राज्य के मोरबी में रविवार 30 अक्टूबर 2022 को शाम लगभग 6बजकर 30 मिनट पर केबल ब्रिज टूटने से लगभग 400 लोग मच्छु नदी में गिर गये।

इस हादसे में अब तक 140 से ज्यादा लोगों मौत हुई है, इनमें 50 से ज्यादा महिलाएं व बच्चे भी शामिल हैं, वहीं 70 लोगों के अस्पताल में घायल भर्ती होने की जानकारी अभी तक दी गई है।

बताया जा रहा है कि यह पुल पिछले 6 माह से बंद था। वहीं हाल ही में इस ब्रिज में लगभग 2 करोड़ रूपये की लागत से इसकी मरम्मत का काम पूरा किया गया था।

दीपावली के एक दिन बाद यानी की 25 अक्टूबर को इस ब्रिज को आम जनता के लिए खोला गया था। वहीं बताया जा रहा हैं की इस ब्रिज की क्षमता लगभग 100 लोगों की थी, लेकिन रविवार की छुट्टी होने के चलते इस पर लगभग 500 लोग जमा हो गये थे। ओर यही हादसे की वजह बताई जा रही है।

Gujarat Cable Bridge Collapsed Video देखने के लिए नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक कर टेलीग्राम ज्वाइन करें व वीडियो देखें – क्लिक करें

गुजरात पुल हादसे पर प्रधानमंत्री ने कहा

Gujarat Cable Bridge Collapsed पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने दुख जताया है। उन्होंने गुजरात के मुख्यमंत्री भूपेंद्र पटेल से इस ब्रिज घटना की जानकारी ली वहीं इस हादसे में मृतकों के आश्रितों को 4 लाख रूपये व घायलों को 50 हजार रुपये की सहायता देने का ऐलान भी किया है।

सीएम मुख्यमंत्री भूपेंद्र पटेल ने बताया कि राहत ओर बचाव कार्य अभी भी जारी है। तत्काल उपचार की व्यवस्था करने के निर्देश दिये गए हैं और वह स्वयं भी जिला प्रशासन के संपर्क में लगातार बने हुए हैं।

राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू ने भी गुजरात में हुए केबल ब्रिज हादसे पर शोक जताया है।

Gujarat Cable Bridge Collapsed

Gujarat Cable Bridge Collapsed कब बनाया गया

गुजरात के मोरबी का यह सस्पेंशन ब्रिज 140 साल से भी अधिक पुराना है वहीं इस ब्रिज की लंबाई लगभग 765 फीट है। गुजरात का यह ब्रिज गुजरात के मोरबी ही नहीं बल्कि भारत देश के लिये एक ऐतिहासिक धरोहर है।

इस ऐतिहासिक ब्रिज का उद्घाटन 20 फरवरी 1879 को मुंबई के गवर्नर Richard Temple ने किया था। यह उस समय लगभग 3.5 लाख की कीमत से साल 1880 में यह ब्रिज बनकर तैयार हुआ था।

उस समय में इस ब्रिज को बनाने का सामान इंग्लैंड से मंगाया गया था। इसके बाद इस ब्रिज को कई बार Renovation किया गया। वहीं हाल ही में दीपावली से पहले इस ब्रिज की मरम्मत के लिए लगभग 2 करोड़ रूपये खर्च किये गये।

Gujarat Cable Bridge Collapsed हादसा क्यों हुआ

बताया जा रहा है की 100 लोगों की क्षमता वाले गुजरात के मोरबी ब्रिज पर रविवार की छुट्टी होने के कारण लगभग 400 से 500 लोग जमा थे।

Gujarat Cable Bridge Collapsed

इस तरह अगर हम एक व्यक्ति का ओसत भार 60 किलो भी मान लें तो पुल पर 30 टन से भी ज्यादा का लोड हो गया था। इसी के चलते गुजरात का मोरबी का ब्रिज बीच में से टूट गया। ओर यह हादसा हुआ।

Free Smartphone Kab Milega | राजस्थान की महिलाओं को फ्री स्मार्टफोन कब मिलेगा

गुजरात मोरबी ब्रिज की देखरेख की जिम्मेदारी

गुजरात के मोरबी में बने ब्रिज के मेंटेनेंस की जिम्मेदारी Orewa Group के पास है। इस ग्रुप के पास मार्च 2022 से मार्च 2037 तक यानी की 15 साल के लिए मोरबी नगर पालिका के साथ एक समझौता किया है। इस ग्रुप के पास ब्रिज की सुरक्षा, सफाई, रखरखाव, टोल वसूलने व स्टाफ के प्रबंधन की जिम्मेदारी है।

गुजरात ब्रिज मामले में कांग्रेस ने भाजपा को घेरा

गुजरात ब्रिज हादसे के बाद कांग्रेस पार्टी ने भाजपा सरकार को घेरा, कांग्रेस का कहना है कि चुनाव की जल्दबाजी में भाजपा ने पुल को लोगों के लिए जल्दी खोल दिया। वहीं राहुल गांधी ने इस घटना पर बहुत दुःखद बताया है।

वह उन्होंने सभी कांग्रेस कार्यकर्ताओं से अपील कि वह दुर्घटना में घायल व्यक्तियों की हर संभव सहायता करें व लापता लोगों की तलाश करने में मदद करें। इसके अलावा दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने भी घटना को दु:खद बताया।

WhatsApp Channel Join Now
Telegram Group Join Now

Leave a Comment

You cannot copy content of this page