World Aids Day Theme 2023 | विश्व एड्स दिवस 1 दिसंबर जानें थीम, इतिहास और महत्व

World Aids Day Theme 2023: विश्व एड्स दिवस, हर साल 1 दिसम्बर को मनाया जाता है। इस दिन का मुख्य उद्देश्य Aids (एक्वायर्ड इम्यूनोडेफिशिएंसी सिंड्रोम) और Hiv (एड्स के कारण होने वाला वायरस) से जुड़ी जागरूकता बढ़ाना और समर्थन जुटाना है। इस दिन दुनिया भर में कई संगठनों द्वारा इस रोग के प्रति जागरूकता को बढ़ावा देने वाले विभिन्न जागरूकता अभियान और गतिविधियां आयोजित की जाती हैं जो लोगों को एचआईवी/एड्स से संबंधित सच्चाई बताने और जागरूकता बढ़ाने का प्रयास करते हैं।

विश्व एड्स दिवस एक विश्व स्तर पर मनाया जाने वाला स्वास्थ्य देखभाल कार्यक्रम है जो पिछले 33 वर्षों से हर साल 1 दिसंबर को मनाया जा रहा है। 

विश्व एड्स दिवस क्यों मनाया जाता है?

विश्व एड्स जागरूकता दिवस आवश्यक इसलिए है क्योंकि एचआईवी संक्रमण वर्तमान में लाइलाज है, लेकिन इस बीमारी के बारे में लोगों को अच्छी गुणवत्ता वाली जागरूकता देकर इसे नियंत्रित किया जा सकता है, खासकर ग्रामीण क्षेत्रों में।

World Aids Day Theme 2023

एक समय यह एक असहनीय पुरानी स्वास्थ्य स्थिति थी, लेकिन अब, अवसरवादी संक्रमण सहित एचआईवी की रोकथाम, निदान, प्रबंधन और देखभाल में प्रगति के साथ, एचआईवी से पीड़ित लोग लंबे समय तक ओर स्वस्थ जीवन जी सकते हैं।

भारत में वर्ष 2019 में 58.96 हजार एड्स से संबंधित मौतें और 69.22 हजार नए एचआईवी संक्रमण सामने आए। एक रिपोर्ट के अनुसार, दुनिया भर में 39 मिलियन लोग एचआईवी से पीड़ित हैं। ओर इससे अधिकांश प्रभावित लोग निम्न स्तर पर रहते हैं जो मध्यम आय वाले राष्ट्र से होते है।

पहली बार वर्ल्ड एड्स डे कब मनाया गया?

वर्ल्ड एड्स डे पहली बार साल 1988 में मनाया गया था। इसके बाद से यह हर वर्ष एक नई थीम के साथ मनाया जाता है। इस साल World Aids Day 2023 में भी एक विषय रखा गया है ये कार्यक्रम पिछले 33 वर्षों से मनाया जा रहा है।

World Aids Day Theme 2023 (विश्व एड्स दिवस 2023 थीम)

इस साल 2023, विश्व एड्स दिवस की थीम “समुदायों को नेतृत्व करने दें (Let Communities Lead) रखा गया है। इस साल ये विषय रखने का आशय है कि इस रोग से प्रभावित समुदायों को नेतृत्व करने की भूमिका निभाने के लिए जागरूक करना है।

आप नीचे सारणी में पिछले कुछ वर्षों की वर्ष दर वर्ष विश्व एड्स दिवस की थीम देख सकते हैं:-

• विश्व एड्स दिवस 2023 थीम: समुदायों को नेतृत्व करने दें

• विश्व एड्स दिवस 2022 थीम: समान करें

• विश्व एड्स दिवस 2021 थीम: असमानताओं को समाप्त करें। एड्स ख़त्म करो. महामारी ख़त्म करो

• विश्व एड्स दिवस 2020 थीम: वैश्विक एकजुटता, साझा जिम्मेदारी

• विश्व एड्स दिवस 2019 थीम: समुदाय फर्क लाते हैं

• विश्व एड्स दिवस 2018 थीम: अपनी स्थिति जानें

• विश्व एड्स दिवस 2017 थीम: मेरा स्वास्थ्य, मेरा अधिकार

एड्स कैसे फैलता है? (Aids Kaise Failta hai)

एड्स मुख्यत: एचआईवी (HIV) वायरस के संक्रमण से होता है, जो व्यक्ति के शरीर में प्रवेश करके उसके रक्त, शुक्राणु, और अन्य तंतु-संबंधित शरीरी तरंगों को प्रभावित करता है।

1. संभावित संबंधों के माध्यम से: असुरक्षित यौन संबंध, शुक्राणु, या रक्त से हो सकता है, जब ये संभावित रूप से HIV संक्रमित व्यक्ति के साथ होते हैं।

2. इंजेक्शन साझा किया जाना: जब एक व्यक्ति HIV संक्रमित सुई का उपयोग करके दवा लेने के लिए इंजेक्शन लेता है और फिर वह सिरिंज किसी और से साझा करता है, तो संक्रमण फैल सकता है। बिना जांच किया हुआ रक्‍त ग्रहण करने वाला व्‍यक्ति भी इस रोग से ग्रसित हो सकता है।

3. गर्भावस्था के दौरान: एक संक्रमित माता से नवजात शिशु को HIV हो सकता है, जब गर्भावस्था के दौरान या जन्म के समय संक्रमित रक्त का संपर्क होता है।

एचआईवी संक्रमण से बचाव के लिए सुरक्षित यौन आदतें, असुरक्षित इंजेक्शन से बचना और निर्धारित एचआईवी दवाओं का सही तरीके से सेवन करना महत्वपूर्ण है।

यह भी पढ़े:- Corona Vaccine Certificate Download कैसे करें ?

एड्स के लक्षण क्या क्या हो सकते हैं?

एड्स के लक्षण अलग-अलग हो सकते हैं, हालाँकि, संभावित संकेतों और लक्षणों में बुखार, रात को पसीना, मांसपेशियों में दर्द, चकत्ते और बहुत कुछ शामिल हो सकते हैं। जो व्यक्ति से व्यक्ति तक भिन्नता रखते है।

1. प्रारंभिक चरण
– फीवर, थकान, और बार-बार बुखार।
– शरीर में दर्द और मांसपेशियों में कमी।
– खांसी और सांस की समस्याएं।
– जिल्दों पर छाले या दाने।

2. मध्यकालीन चरण
– वजन कमी और बार-बार दस्त होना।
– सूजन और गाले में दर्द।
– बुढ़ापे में कमी और शारीरिक कमजोरी।
– त्वचा पर फुंसियां या दाग।

3. उच्चतम चरण
– तेजी से वजन घटना।
– तबियत का स्थिति बिगड़ना और बुढ़ापे में गंभीर कमी।
– श्वास की समस्याएं और नेत्र दृष्टि कमजोरी।
– सामान्य संक्रमणों के खिलाफ संरक्षण की कमी।

ध्यान रहें दोस्तो उपरोक्‍त सभी लक्षण शामिल हो सकते ओर ये अन्‍य सामान्‍य रोगों, के भी हो सकते है जिनका इलाज किया जा सकता है। किसी व्‍यक्ति में ये लक्षण भर दिखने से एच.आई.वी. संक्रमण का पता नहीं लगाया जा सकता है।

आप कैसे पता करें की आपको एड्स है या नहीं

आपको एड्स है या नहीं इसका पता मेडिकल टेस्टिंग के माध्यम से ही लगाया जा सकता है। आप यह पता करने के लिए एड्स लक्षणों पर भरोसा नहीं कर सकते इसलिए एड्स का पता लगाने के लिए, डॉक्टर से बात करें और HIV टेस्ट करवाएं। टेस्ट के लिए आपके रक्त जांच होती है। यदि ये टेस्ट पॉजिटिव आता है, तो आप इस बीमारी से ग्रसित है।

अपनी एचआईवी स्थिति जानने के बाद आपको सशक्त जानकारी मिलती है ताकि आप खुद को और अन्य को स्वस्थ रखने के लिए आगे के कदम उठा सकते है।

याद रखें दोस्तों आप एचआईवी के इलाज के लिए दवा ले सकते हैं। जो एचआईवी/एड्स से पीड़ित लोग जो विशेषज्ञों की सलाह अनुसार दवा लेते हैं, वह लंबा और स्वस्थ जीवन जी सकते है।

स्रोत: विकिपीडिया

WhatsApp Channel Join Now
Telegram Group Join Now

Leave a Comment